Saint Kabir's Couplet of the day  / आज का संत कबीर का दोहा
मान बड़ाई देखि कर, भक्ति करै संसार। जब देखैं कछु हीनता, अवगुन धरै गंवार।।
Transliteration:   Maan badaai dekhi kar, bhakti karai sansaar; jab dekhain kachhu heenataa, avagun dharai ganvaar.
अर्थ : बहुत से लोग दूसरों की देखादेखी सम्मान पाने के लिये परमात्मा की भक्ति करने लगते हैं, पर जब उन्हें वो ऐसी प्रार्थना का फल नहीं मिलता तब वह मूर्खों की तरह इस भक्ति की रीति मैं ही दोष निकालने लगते हैं।
Translation:   Majority of people start preaching God by seeing others doing so and with a greed to obtain fruits of such practice; but when they see no reward forthcoming, then they foolishly start crticizing the practice of preaching God.